यदि आप सोच रहे है कि भारतीय शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं? लेकिन शेयरों में निवेश करते समय उठाए जाने वाले पहले कदमों के बारे में सुनिश्चित नहीं हैं, तो आप विलकुल सही जगह पर आए हैं।

आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि 1995 में अगर आप निफ्टी इंडेक्स में 10,000 रुपये का निवेश करते तो आज वह लगभग 1,80,000 रुपयें हो जाते। लंबी अवधि के निवेश वैल्थ बनाने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है। हम यहां आपको विलकुल शुरुआत से सिखायेंगे कि शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं और शेयर बाजार से पैसे कैसे कमाए।

आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते है लेकिन आपके मन में यह सबाल आ रहा है कि शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं और शेयर बाजार से पैसे कैसे कमाए। तो निश्चिंत रहिए आपको बहुत बारिकी से समझाया जायेगा।

शेयर बाजार में कम पैसे से निवेश शुरू करने के कई तरीके हैं और ब्रोकर द्वारा दिए गए ऑनलाइन और ऐप आधारित प्लेटफॉर्म की मदद से आप काफी आसानी से शेयर मार्केट में निवेश की शुरुआत कर सकते है, आपको बस निवेश की शुरुआत करनी है। बस नीचे दिए गए सभी चरणों का पालन करें और आप सीखेंगे कि भारतीय शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं:

[lwptoc]

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं

 

आप एक ब्रोकरेज खाता खोलकर, ऑनलाइन शेयरों में निवेश कर सकते हैं और कम पैसे से अपने निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं और शेयर बाजार से पैसे कैसे कमाए, इसकी मूल बातें यहां दी गई हैं, भले ही आप अभी निवेश के बारे में बिलकुल भी नहीं जानते हों, फिर भी आप आसानी से समझ जायेंगे। लेकिन शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं, ये समझने से पहले ये जरुर समझले कि शेयर मार्केट क्या है।

 

1) अपना निवेश दृष्टिकोण निर्धारित करें।

सबसे पहले मन में विचार करने वाली पहली बात यह है कि शेयरों में निवेश कैसे शुरू किया जाए।

कुछ निवेशक व्यक्तिगत स्टॉक खरीदना पसंद करते हैं, जबकि अन्य इंडेक्स फंड या बॉन्ड में निबेश करना पसंद करते है। सबका अपना- अपना दृष्टिकोण होता है।

दृष्टिकोण समझने के लिए निम्नलिखित में से कौन सा कथन आपका सबसे अच्छा वर्णन करता है?

  • मैं एक विश्लेषणात्मक व्यक्ति हूं और रिसर्च करना अच्छा लगता है।
  • मुझे गणित समझ में नही आती है और मैं किसी भी तरह का “होमवर्क” नहीं करना चाहता हुं।
  • मेरे पास शेयर बाजार में निवेश करने के लिए हर हफ्ते कई घंटे हैं।
  • मैं उन विभिन्न कंपनियों के बारे में पढ़ना पसंद करता हूं जिनमें मैं निवेश कर सकता हूं, लेकिन गणित से संबंधित चीजो को समझ नही पाता हुं।
  • मैं एक व्यस्त पेशेवर हूं और मेरे पास किसी स्टॉक का विश्लेषण करने का तरीका सीखने का समय नहीं है।

अच्छी खबर यह है कि आप इनमें से किस भी कथन से सहमत हैं, आप अभी भी एक निवेशक बनने के लिए एक महान उम्मीदवार हैं। केवल एक चीज जो बदलेगी वह है “कैसे।”

 

शेयर बाजार में निवेश करने के कौन – कौन से तरीके है?

व्यक्तिगत स्टॉक: यदि आप किसी कंपनी के स्टॉक में निवेश करना चाहते है तो विलकुल कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास निरंतर आधार पर स्टॉक का पूरी तरह से शोध और मूल्यांकन करने का समय और इच्छा होनी चाहिए। अगर ऐसा है, तो हम आपको व्यक्तिगत स्टॉक में निवेश करने के लिए 100% प्रोत्साहित करते हैं। एक स्मार्ट और धैर्यवान निवेशक किसी अच्छी कंपनी के स्टॉक में निवेश कर वैल्थ बना सकता है ये पूरी तरह से संभव है। दूसरी ओर, किसी जब आप किसी व्यक्तिगत स्टॉक में निवेश करते है तो आपको उसके तिमाही आय रिपोर्ट और उस कंपनी से संबधित न्युज देखना रहना चाहिए। जिसके कि आप अपने निवेश में सेफ बने रहे।

इंडेक्स फंड: व्यक्तिगत स्टॉक खरीदने के अलावा, आप इंडेक्स फंड में भी निवेश कर सकते हैं, जैसे – निफ्टी इंडेक्स जो भारत की 50 कंपनियों को ट्रैक करता हैं। इंडेक्स फंड में आप दो तरह से निवेश कर सकते है। जिसमें पहला है कि एक इंडेक्स में जितनी भी कंपनी है उन सभी कंपनियों में उसी मात्रा में निवेश करे जिस मात्रा में उन स्टॉक्स की इंडेक्स में हिस्सेदारी है। इसके अलावा दूसरा तरीका है कि आप ETF(Exchange Traded Fund) में निवेश करे। अगर आप निफ्टी 50 इंडेक्स में निवेश करना चाहते है तो आपको Nifty Bees ETF में करना चाहिए। जैसे कि हमने शुरु में ही बताया है कि निफ्टी से कितना अच्छा रिटर्न दिया है।

रोबो-सलाहकार: अंत में, हाल ही के वर्षों में ये बहुत लोकप्रियता हुआ है जिसे रोबो-सलाहकार(Robo-advisors) कहा जाता है रोबो-सलाहकार एक ब्रोकरेज की तरफ से उपलब्ध करायी जाती है जो अनिवार्य रूप से आपकी ओर से आपके पैसे को इंडेक्स फंड के पोर्टफोलियो में निवेश करता है जो आपकी उम्र, जोखिम सहनशीलता और निवेश लक्ष्यों के लिए के अनुरुप निवेश करता है। एक रोबो-सलाहकार न केवल आपके निवेश का चयन करता है, बल्कि आपकी कर दक्षता को अनुकूलित करता है और समय के साथ स्वचालित रूप से आपके निवेश में परिवर्तन भी करता है। ये उन लोगो के लिए बहुत सही है जिनके शेयर मार्केट को सीखने के लिए समय नही है। रोबो-सलाहकार के द्वारा निवेश शुरु करने के लिए आप एंजेल ब्रोकिंग में अपना खाता खोल सकते है जो कि आपको रोबो-सलाहकार की सर्विश देती है, एंजेल ब्रोकिंग में खाता खोलने के लिए क्लिक करे।

 

2) आप निवेश क्यों करना चाहते है, लक्ष्य निर्धारित करे।

सिर्फ निवेश ही नही, जीवन में कुछ भी हासिल करने के लिए पहले आपको एक लक्ष्य निर्धारित करना होता है तभी आप उन लक्ष्यों को पा सकते है। ठीक इसी प्रकार निवेश करने से पहले आपको अपने आप से पूछ्ना है कि आप निवेश क्यों करना चाहते है। आपके पास निम्नलिखित लक्ष्य हो सकते है –

  • वैल्थ बनाने के लिए
  • बच्चों की पढाई के लिए
  • Financial Freedom पाने के लिए
  • रिटायरमेंट के लिए
  • Passive Income कमाने के लिए
  • Job के साथ Extra Income के लिए, इत्यादि।

ऊपर दिए गए लक्ष्यों में से कोई भी आपका लक्ष्य हो सकता है या इनके अलावा। लक्ष्य निर्धारित करने के बाद आपको ये तय करना होगा कि वह लक्ष्य पूरा होने में लगभग कितना समय लगेगा, उसी हिसाव से उतनी ही लम्बी अवधि के लिए निवेश की योजना बनाएं।

 

3) तय करें कि आप शेयरों में कितना निवेश करना चाहते है।

सबसे पहले हम उस पैसे के बारे में बात करते है जो आपको शेयरों में निवेश नहीं करना चाहिए। आप जानते है कि शेयर मार्केट में रिस्क होता है इसलिए हमें ऐसे पैसे का निवेश नही करना है जिसकी हमें थोडे समय बाद ही जरुरत रहने बाली है। इसलिए अपने Extra पैसे का ही निवेश करे जिससे की अगर आपका नुकसान भी होता है तो आपको फाइनेंशली दिक्कत ना आए।

शेयर बाजार में रोज उतार –चढाव चलता रहता है लेकिन ये लंबे समय में लगभग निश्चित रूप से बढ़ेगा, इस लिए जितना हो सके लम्बे समय के लिए निवेश की योजना बनाएं।

आपने देखा ही होगा कि 2020 में, COVID-19 महामारी के दौरान, बाजार 40% से अधिक गिर गया और कुछ ही महीनों में फिर उसने पहले से भी ज्यादा बढत दिखाई। COVID-19 के दौरान सिर्फ उन्ही निवेशको का नुकसान हुआ जिन्होने छोटी अवधि के लिए निवेश किया, जबकि जिन निवेशको ने लम्बी अवधि के लिए निवेश किया था उन्होने अपनी जिंदगी का सबसे अच्छा पैसा कमाया।

ऐसे पैसे आपको शेयर मार्केट में निवेश नही करने है-

  • आपका इमरजेंसी फंड।
  • ऐसे पैसे जो आपको अपने बच्चे की अगली ट्यूशन फीस भुगतान करने के लिए चाहिए।
  • ऐसे पैसे जो अगले साल वैकेशन के रखे है।
  • ऐसे पैसे जिसके लिए आपने लोन लिया है।

 

ऐसेट एलोकेशन (Asset allocation)

अब हम बात करते हैं कि आपके निवेश योग्य पैसे का क्या किया जाए — यानी वह पैसा जिसकी आपको अगले कम से कम दो वर्षों में आवश्यकता नहीं होगी। ऐसेट एलोकेशन एक अवधारणा और कुछ कारक यहां काम करते हैं। जिसमें आपकी उम्र एक प्रमुख विचार है, क्योंकि जोकिम लेने में उम्र एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

चलिए शुरू करते हैं आपकी उम्र से। यदि आप युवा हैं, तो शेयर बाजार में किसी भी उतार-चढ़ाव से निपटने के लिए आपके पास बहुत समय हैं, लेकिन यदि आप से Job करते हैं और अपनी आय ही पर निर्भर हैं तो ऐसा नहीं है।

यहां एक सरल नियम दिया गया है जो आपको ये समझाने में मदद करता है कि कितना पैसा आपको कहा  लगाना चाहिए। इस नियम के अनुसार अपनी उम्र लें और अपनी उम्र को 110 में से घटाएं। यह आपके स्टॉक में निवेश योग्य धन का अनुमानित प्रतिशत है(म्यूचुअल फंड और स्टॉक आधारित ईटीएफ शामिल हैं)। शेष निश्चित आय आपको बांड, म्यूचुअल फंड और  ईटीएफ में निवेश करनी चाहिए। इस निवेश अनुपात को आप अपने जोखिम सहनशीलता के आधार ऊपर या नीचे समायोजित कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि अभी आपकी उम्र 40 साल है। तो यह नियम बताता है कि आपके निवेश का 70% पैसा स्टॉक में निवेश होना चाहिए, अन्य 30% बांड, म्यूचुअल फंड और  ईटीएफ में होना चाहिए। यदि आप अधिक जोखिम लेने वाले हैं तो आप इस अनुपात को स्टॉक की ओर बढा सकते है। दूसरी ओर, यदि आप अपने कम जोकिम लेने बाले है तो स्टॉक के अनुपात को कम कर बांड, म्यूचुअल फंड और  ईटीएफ का अनुपात बढा सकते है।

 

4) एक डीमेट खाता खोले।

अभी तक आप समझ गए है कि आपको निवेश क्यों करना है और कहा करना है, अव सबाल आता है कैसे?

हम किसी भी कंपनी के शेयर डाइरेक्ट कंपनी ने नही खरीद सकते है, स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए हमें ब्रोकर के पास एक डीमेट खाता खुलवाना होता है। खाता खुलने के बाद ब्रोकर आपको एक प्लेटफार्म देगा, जिसकी मदद से आप किसी भी लिस्टेड कंपनी में निवेश कर सकते है। इसके अलावा आप जो भी स्टॉक निवेश के लिए खरीदते हो बह आपके डीमेट खाते में ही रखे जाते है, जिन्हे आप कभी भी बेच सकते है।

वैसे तो मार्केट में बहुत सारे ब्रोकर मौजुद है लेकिन मैं आपको सिर्फ भारत के सबसे अच्छे स्टॉक ब्रोकर के वारे में बता रहा जिनके पास आप अपने घर वैठे ही सिर्फ मोबाईल की मदद से खाता खोल सकते है। ब्रोकर की लिस्ट नीचे दी गई है-

 

5) शेयर मार्केट के वैसिक्स को सीखो।

एक पुरानी कहावत है “ अगर आपको एक पेड काटने के लिए 1 घंटे का समय दिया जाए, तो उसमें से 40 मिनट आप कुल्हाडी की धार तेज करने में लगाए, और वाकी के 20 मिनट पेड काटने में। क्योंकि एक वार जब कुल्हाडी की धार तेज हो जायेगी फिर पेड काटने में ज्यादा वक्त नही लगेगा”

ठीक इसी प्रकार आपको निवेश करने से पहले शेयर मार्केट के वारे में अच्छे से समझ लेना और सीखने के बाद ही निवेश करना है। आप जानते है कि शेयर मार्केट में ज्यादातर लोग अपना पैसा गंवा देते है और बोलते है ये तो जुआ है ये बही लोग है जो विना किसी तैयारी के मार्केट में आते है और अपना पैसा गंवाते है। लेकिन आपको इन जैसा नही बनना है आप इस लेख को पढते हुये ये प्रण ले कि मैं विना सीखे मार्केट में निवेश नही करुंगा।

शेयर मार्केट को सीखने के लिए नीचे स्टेप वाई स्टेप रोडमेप दिया गया है जिसके अनुसार आप शेयर मार्केट को सीखना शुरु करे।

स्टॉक मार्केट का वैसिक्स :- इसमें आप समझेंगे कि शेयर मार्केट क्या है और कैसे काम करता है, और शेयर मार्केट के जरुरी पहलु के वारे में।

फंडामेंटल एनालिसिस :- फंडामेंटल एनालिसिस में हम सीखते है कि किसी कंपनी के स्टॉक की रिसर्च कैसे करते है जैसे – कंपनी के लाभ – हानि, वैलेंस सीट, कंपनी क्या करती है और पैसे कैसे कमाती है आदि।

टेक्नीकल एनालिसिल का वैसिक्स :- ये एक निवेशक के लिए जरुरी नही है लेकिन मेरी सलाह है कि आप इसे थोडा बहुत जरुर सीखे, ये आपको सही समय पर निवेश करने में मदद करेगा।

मनी मनैजमेंट :- ये निवेश का सबसे जरुरी पहलु होता है इसमें आप सीखते है अपने जोकिम को कैसे कम किया जाए।

 

6) निवेश करने के लिए स्टॉक चुनें।

अभी तक आप निवेश के वारे में अच्छे से समझ गए है और शेयर मार्केट में क्या –क्या सीखना है वो भी हम जान चुके है। जब आप स्टॉक मार्केट सीख जाते है उसके बाद आपका अगला काम है ऐसे स्टॉक्स को छॉटना जो लम्बे समय में अच्छा रिटर्न दे सके।

निवेश के लिए स्टॉक्स कैसे सेलेक्ट करे वो तो हम इस लेख में नही बता सकते है क्योंकि ये सब तो आप फंडामेंटल एनालिलिस में सीखेंगे, लेकिन आपको कुछ महत्वपूर्ण  टिप्स दे रहे है जो आपको बेहतरीन स्टॉक सीलेक्ट करने में मदद करेंगे।

  • किसी भी एक शेयर में अपना सारा पैसा न लगाए।
  • सिर्फ उन व्यवसायों में निवेश करें जिन्हें आप समझते हैं।
  • High-volatility(जो कम समय में ही बहुत ज्यादा अप और डाउन दिखाते है।) वाले शेयरों से तब तक बचें जब तक आप निवेश को अच्छी तरह न समझ जाए।
  • पेनी स्टॉक(सस्ते शेयर) से हमेशा दूर करें।
  • स्टॉक के अलावा ETF , Bonds और Gold में भी निवेश करे।

विविधीकरण(Diversification) की अवधारणा को सीखना एक अच्छा विचार है, जिसका अर्थ है कि आपके पोर्टफोलियो में विभिन्न प्रकार की कंपनियां के शेयर होने चाहिए। हालाँकि, मैं बहुत अधिक शेयर खरीदने की सलाह नही दुंगा, क्योंकि फिर इतनी अलग –अलग कंपनियों को ट्रेक करना मुस्किल है।

हमेशा उन व्यवसायों में निवेश करे जिन्हें आप समझते हैं। आकर्षक हाई-ग्रोथ स्टॉक खरीदना पैसा बनाने का एक शानदार तरीका लग सकता, लेकिन मैं आपको सावधान करता हूं कि जब तक आप थोड़ा और अनुभवी न हों, तब तक आप इनसे दूर रहे।

यदि आप अलग-अलग कंपनियों के शेयरों में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको उनका मूल्यांकन और रिसर्च करने के कुछ बुनियादी तरीकों से खुद को परिचित करना चाहिए। ये ही निवेश की कूंजी है।

 

7) निवेश शुरु करे।

अभी आप निवेश करने के लिए विलकुल तैयार है, लेकिन मेरी आपको सलाह है कि शुरुआती दौर में कम पैसों के साथ निवेश करे और जब कुछ समय बाद जब आपको थोडा अनुभव हो जाता है तो आप अपने निवेश को वडा सकते है।

अभी हम निवेश के सबसे बड़े रहस्यों में से एक के वारे में बताते है, वो भी वॉरेन बफेट के सौजन्य से। “असाधारण परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको असाधारण कार्य करने की आवश्यकता नहीं है।“ (नोट: वॉरेन बफेट दुनिया के सबसे बडे सफल निवेशक हैं, बल्कि ये अपनी निवेश रणनीति के लिए ज्ञान के सर्वोत्तम स्रोतों में से एक हैं।)

शेयर बाजार में पैसा बनाने का सबसे अचूक तरीका यह है कि आप अच्छे व्यवसायों के शेयरों को उचित कीमतों पर खरीदा जाए और शेयरों को तब तक बनाए रखा जाए जब तक कि व्यवसाय बढता रहे (या जब तक आपको पैसे की आवश्यकता न हो)। यदि आप ऐसा करते हैं, तो आप अल्प अवधि में कुछ उतार – चढाव का अनुभव करेंगे, लेकिन लम्बे समय में आपको बहुत अच्छे निवेश रिटर्न मिलेंगे।

 

अंतिम शव्द

इस समय निवेश करने के बारे में सबसे अच्छी बात पता है क्या है कि आपके पास इसे अपने तरीके से करने के कई तरीके हैं, भले ही आपको शुरुआत में शेयर मार्केट की ज्यादा जानकारी न हो। आपके पास इसे स्वयं करने का विकल्प है या आप किसी विशेषज्ञ की मदद से ये कर सकते है। आप स्टॉक या इंडेक्स फंड में निवेश कर सकते हैं, सक्रिय रूप से ट्रेड कर सकते हैं या निष्क्रिय रूप से निवेश कर सकते हैं। आप जो भी तरीका चुनें, वह निवेश शैली चुनें जो आपके लिए सही है और आपको अपने लक्ष्य पूरे करने में मदद करे।

हे निवेशक, आपको हमारा ये “शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं(Share Market me Paisa Kaise Lagaye)“ लेख कैसा जरुर अपनी राय हमें कमेंट में बताएं और अपने दोस्तो के साथ जरुर साझा करे। अगर आपका निवेश से संबधित कोई सबाल है तो हमें जरुर बतायें, हमें आपकी सहायता करने में खुशी होगी।